प्यार ….वो शब्द है ……ये जो अधूरा होते हुए भी अपने आप मे..पूर्ण हैप्रेम अजेर अमर है …गंगा जल समान

Read more