Monthly Archive: December 2008

आंखे …..

आंखे …..

याद करके जबरोने लगी येआंखे ………..अश्क भी ..अब साथनहीं देते …दिल मे उठे दर्दको नहीं मै समझ पा रहीख़ुशी की तलाश मे..चली थी मै…….पर गमो को साथ लिये…लौटी हु मै …….ना भूलने वाली यादे...